Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS

इलेक्‍ट्रॉनिक निधि अंतरण (इलेक्‍ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर)

यह भारतीय रिजर्व बैंक के एनईएफटी प्रणाली के माध्‍यम से उपलब्‍ध एक सुविधा है जिससे मेट्रो रेलवे समूचे भारत में किसी भी व्‍यक्‍ति या संगठन जिसका किसी भी भागीदार वाणिज्‍यिक बैंक में खाता है, उसमें निधि का अंतरण कर सकता है। आपूर्तिकर्ता / ठेकेदार के खाते में बिल पास होने के 3 दिनों के भीतर बिल की राशि जमा हो जाती है। इस संबंध में भारतीय स्‍टेट बैंक, चौरंगी शाखा, 38 बी, जे.एल. नेहरू रोड, कोलकाता-700071 के साथ एक करार का निष्‍पादन किया गया है। भारतीय स्‍टेट बैंक ने लागतमुक्‍त सेवा उपलब्‍ध कराने की सहमति दी है। ईएफटी मोड्यूल को मेट्रो रेलवे के कंप्‍यूटर सॉफ्टवेयर के साथ एकीकृत करने के लिए आवश्‍यक सॉफ्टवेयर विकसित किया गया है ताकि ईएफटी प्रणाली के संचालन में हाथ से कुछ करने की जरूरत न पड़े।

§नेशनल इलेक्‍ट्रॉनिक निधि अंतरण (ईएफटी) को 08.03.2006 से सफलतापूर्वक लागू कर दिया गया है।

§अब मेट्रो रेलवे आरबीआई-एनईएफटी प्रणाली के माध्‍यम से भारत के 15 बड़े शहरों में 2 दिनों के भीतर बिक्रेता के खाते में निधि का आंतरण कर सकता है।

§मेट्रो रेलवे एसबीआई के स्‍टेप प्रणाली के माध्‍यम से भारत के 15 प्रमुख शहरों में 2 दिन के भीतर उन बिक्रेताओं के खाते में निधि का अंतरण कर सकता है जिनके खाते भारतीय स्‍टेट बैंक में मौजूद हों।

§मेट्रो रेलवे के सभी ठेकेदारों एवं बिक्रेताओं से अनुरोध किया जाता है कि वे नीचे दिए गए डाउनलोड किए जानेवाले प्रोफार्मा में आदेश पत्र (मैंडेट फॉर्म) के माध्‍यम से अपने विकल्‍प देकर ईएफटी के माध्‍यम से भुगतान प्रणाली में शामिल हों।

 

:: ईएफटी मैंडेट प्रपत्र डाउनलोड करें ::




Source : मेट्रो रेलवे कोलकता / भारतीय रेल का पोर्टल CMS Team Last Reviewed on: 06-05-2014